Hot News

शराब का अवैध कारोबार और सपा-भाजपा का काकटेल!

गाजीपुर। थाना सरायलखंसी जिला मऊ के औद्योगिक क्षेत्र बढ़ुआ गोदाम के एक मकान से लाखों की शराब की बरामदगी गाजीपुर की सियासी हलके को भी हैरान कर दी है। यह बरामदगी बीते शनिवार को हुई। मौके पर करीब 50 लाख रुपये की मिलावटी अंग्रेजी शराब मिली। यही नहीं काफी मात्रा में नौसादर, यूरिया जैसी घातक मिलावट सामग्री भी बरामद हुई। मऊ पुलिस के मुताबिक उस मकान में मिलावटी शराब बनाने की फैक्ट्री चल रही थी। यह इत्तेफाक नहीं है कि वह मकान गाजीपुर के मरदह थाने के बिजौरा गांव के प्रमांशु उर्फ सोनू सिंह का है। मऊ पुलिस उसे भी तलाश रही है। सोनू सिंह गाजीपुर भाजपा का पहचाना चेहरा है। सबको पता है कि पार्टी में किन नेताओं के साथ उसके कितने गहरे संबंध हैं। उनके नेता के कार्यक्रमों में वह किस हैसियत से उनके आगे-पीछे दिखता है। यहां तक कि सोशल मीडिया में भी वह भाजपा का झंडा बुलंद करता रहता है। सोशल मीडिया पर उन नेताओं के साथ की अपनी फोटो भी जब-तब शेयर करता रहता है। इससे साफ है कि सत्ताधारी दल से संबंधों के बेजा इस्तेमाल करने का वह दुस्साहस किया। अपने मकान में मिलावटी शराब की फैक्ट्री संचालित कराया और अब संभव हो कि सत्ताधारी दल में अपने आकाओं की कृपा से जेल जाने से बचने की जुगत में भी लगा हो। खैर यह बात तो भाजपा के बंदे की रही पर इस कड़ी में प्रमुख विपक्षी दल सपा भी जुड़ी है। मिलावटी शराब बरामदगी के मामले में मऊ पुलिस की फरार चार मुल्जिमों की सूची में सोनू सिंह के साथ ही रवि यादव का नाम है। वह भी सोनू सिंह के ही गांव बिजौरा का ही रहने वाला है और गाजीपुर की सपा से वह जुड़ा है। हर चुनाव में सपा के लिए सक्रिय रहता है। पार्टी नेता रामबचन यादव का वह भतीजा है। रामबचन यादव की पार्टी में क्या हैसियत है यह कार्यकर्ता खासकर जंगीपुर विधानसभा क्षेत्र के पार्टीजन जानते हैं। जैसा कि मऊ पुलिस दावा कर रही है कि मिलावटी शराब का कारोबार काफी दिनों से चल रहा था। इसका मतलब कि सपा की सरकार थी तब और अब भाजपा की सरकार में भी यह कारोबार बेखौफ चल रहा था। गाजीपुर के ही रास्ते शराब की खेप बिहार तक जाती थी। वैसे इस कारोबार के खुलासे के बाद गाजीपुर की भाजपा और सपा में कोई सार्वजनिक प्रतिक्रिया नहीं सुनाई पड़ रही है। दोनों पार्टियों के बड़े नेता सब कुछ जानने के बाद भी इसे अनसुना कर रहे हैं लेकिन आम कार्यकर्ता जरूर चटखारे ले रहे हैं। वजह जहां फरार सोनू सिंह भाजपा के आम कार्यकर्ताओं पर पार्टी के बड़े नेताओं की अपनी निकटता की धौंस जमाता रहा है वहीं रवि यादव सपा में अपने परिवार के रसूख का इस्तेमाल कर पार्टी कार्यकर्ताओं को अपमानित करता रहा है।satdev-slider-1024x774

Author: Aajkal