Hot News

किसान सभा का सरकार पर बड़ा हमला, डंप आलू लेकर जिला मुख्यालय पहुंचने का आह्वान

बाराचवर। आलू किसानों के दर्द से भले भाजपा वाकिफ नहीं हो लेकिन अखिल भारतीय किसान सभा को उसका एहसास है। संगठन की ब्लाक इकाई के बुधवार को हुए सम्मेलन में आलू किसानों का मामला प्रमुखता से उठा। प्रदेश महासचिव एवं पूर्व विधायक राजेंद्र यादव ने कहा कि किसानों की हितैषी बनने का दावा करने वाली भाजपा सरकार किसानों की असल दुश्मन है। कर्जमाफी के नाम पर खुद के साथ कैसा मजाक हुआ इसका अंदाजा किसानों को ठीक से हो चुका है। रही बात आलू की तो भाजपा सरकार आलू की खरीद की बात कह रही है लेकिन हकीकत यही है कि आम आलू किसान आज आंसू बहा रहा है। उसकी पूंजी, श्रम की वाजिब कीमत तो दूर लागत कीमत भी नहीं निकल रही है। कोल्ड स्टोरेज में किसानों के सहेजे आलू की कीमत बाजार में कौड़ी के भाव है। उनका कहना था कि किसानों को अन्नदाता कहा जाता है लेकिन अफसोस कि सरकार किसानों को छलने का कार्य किया है। आज किसान अपने फसलों के उचित मूल्य के लिए तरस रहा है। वजह सरकार की ठोस नीति नहीं बन बनी। आज किसानों को आलू 40 रुपये प्रति 50 किलो की बोरी बेचनी पड़ रही है। मजे की बात कि उसे भी व्यापारी लेने को तैयार नहीं हैं। दुर्भाग्य कि चहूंओर सूखा पड़ गया है। नहरों में पानी नहीं आ रहा है। बिजली व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो गई है। इसके लिए आंदोलन की जरूरत है। उन्होंने किसानों को एक जूट होकर अपने हक अधिकार को पाने के लिए जिला मूख्यालय पर प्रस्तावित धरना-प्रर्दशन धरना-प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए अधिक से अधिक किसानों को पहुंचने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि किसान अपने आलू कोल्ड स्टोरेज से निकाल कर ट्राली पर लेकर और गांवों में छुट्टा मवेशी लेकर आएं। सम्मेलन को संगठन के जिलाध्यक्ष कृपाशंकर सिंह ने भी संबोधित किया। इस मौके पर ब्लाक इकाई के अध्यक्ष पद पर रामअवतार राम अध्यक्ष, गोपाल सिंह मंत्री, रामविलास यादव सहमंत्री, सुभाष पांडेय कोषाध्यक्ष, राम छबिला सिंह तथा नरसिंह यादव संरक्षक, शिवजी गुप्त उपाध्यक्ष, पप्पू यादव सगंठन मंत्री, ब्रजेश यादव उपाध्यक्ष तथा श्रीप्रकाश राय व विश्राम यादव को संरक्षक नामित किया गया। संचालन नरसिंह यादव ने किया।slider-1024x835

Author: Aajkal